कैसे बचाये अपने स्कूल/कोचिंग को लोकडाउन के बाद? ?

क्या आप सोचते हैं कि स्कूल या कोचिंग खुलने पर ऑन लाईन पढ़ाई खत्म हो जायेगी?

क्या आपको पता है कि स्कूल/कोचिंगखुलने के बाद Education में New Normalक्या होगा? वर्तमान परिस्थियो मे Digital Education ही स्कूल/कोचिंगको आगे प्रगती पर ले कर जायेगा। भारत में ऑनलाईन शिक्षण का बाजार बहुत तेजी से बढ़ रहा है। एक सर्वे के आंकलन के अनुसार भारत में ऑनलाईन शिक्षा का व्यापार वर्ष 2020-2024 के मध्य 1 लाख करोड़ रूपये तक का होना अनुमान है। यह प्रत्येक वर्ष 21 प्रतिशत की दर से बढ़ रहा है।

भारत में लगभग 30 करोड़ छात्र प्रत्येक वर्ष शिक्षण एवं परीक्षा की प्रक्रिया से गुजरता है। लगभग 5 करोड़ छात्र विभिन्न परीक्षाओं में प्रत्येक वर्ष भाग लेते हैं। इस प्रकार आप देख सकते हैं कि इतने बड़े बाजार में ऑनलाईन शिक्षा का कितना बड़ा हिस्सा है। ऑनलाईन शिक्षा अपनी विभिन्न विशेषताओं एवं सुविधाओं के कारण बढ़ती ही है।

जब भारत में आज से 5-7 साल पहले ऑनलाईन शॉपिंग जोर पकड़ रहा था। अमेजन, फ्लिपकार्ट आदि साईट भारत में अपनी जड़े जमा रही है। तब बहुत लोग यह कहते पाये जाते हैं कि ऑनलाईन शॉपिंग भारत जैसे देश में नहीं सफल हो सकता। उनकी शंकाये थी कि बिना सामान को देखते हुए कैसे खरीददारी हो सकती है। मात्र 2-3 सालों में यह शंकायें निर्मूल साबित हुयी और अधिक से अधिक लोग ऑनलाईन शॉपिंग करने लगे।

ऑनलाईन शिक्षा भी भारत में पिछले-4-5 सालों में अपनी पैठ बनाने की कोशिश कर रही है। कोविड-19 से पूर्व कुछ बड़े शिक्षण संस्थान व कोचिंग संस्थान ऑन लाईन शिक्षण प्रारम्भ कर चुके थे। कोविड-19 को आपदा ने शिक्षा के शीघ्र में बहुत बड़ा परिवर्तन किया। जो लोग ऑनलाईन शिक्षण का नाम नहीं जानते वे भी इसके बारे में जानने लगे। अभी भी बहुत सारे कोचिंग संचालक या ट्यूशन/स्कूल अध्यापक ऑनलाईन शिक्षण को लेकर शंकित हैं।

ऑनलाईन शिक्षण क्या है ?

सबसे पहले यह समझना आवश्क है कि ऑनलाईन शिक्षण क्या है? अधिकतर अध्यापक, छात्र व अभिभावक यह समझते हैं कि ऑनलाईन शिक्षण क्लास का लाईव वीडियो प्रसारण है। जबकि लाईव क्लास ऑनलाईन शिक्षण का मात्र एक छोटा किन्तु महत्वपूर्ण हिस्सा ही है।

ऑनलाईन शिक्षण की बात आती है तो इसका अर्थ है कि ऑन लाईन शिक्षा का प्रबन्धन जब किसी सोफ्टवेयर के माध्यम से किया जाता है। यह एक एकीकृत सिस्टम है जो कि -

1. स्कूल/ कोचिंग मैनेजमेन्ट 2.अध्यापक 3.विद्यार्थी

को समान रूप से लाभ देता है।

स्कूल/ कोचिंग मैनेजमेन्ट के फीचर:-

1. प्रवेश सम्बन्धी सुविधा ( Admission)

2. उपस्थिति प्रबन्धन

3. फीस संग्रह

4. अनाउन्समेन्ट / पेरेन्ट के साथ सूचना

अध्यापक हेतु फीचर :-

1. लाईव क्लास

2. कोर्स सामग्री का प्रकाशन

3. टेस्ट / परीक्षा

4. डाउट समाधान

5. आपसी संचार

6. स्मार्ट टेस्ट

विद्यार्थी हेतु फीचर:-

1. लाईव इन्टरेक्टिव क्लास

2. प्रश्न पूछने की सुविधा

3. डाउट समाधान

4. परीक्षा / टेस्ट

5. परिणाम का विश्लेषण

6. कोर्स मेटेरियल डाऊन लोड

7. 24 घंटे पढने की सुविधा

इस प्रकार आपके स्मार्टफोन या लेपटोप पर आपका पूरा संस्थान समा जाता है।

कोचिंग संस्थान/स्कूल हेतु ऑनलाईन शिक्षण लाभ:-

यदि आप कोचिंग संस्थान चलाते हैं तो आपका उद्देश्य होता है कि अधिक से अधिक छात्र आपकी संस्था से जुड़ें। यदि आपने अभी तक ऑनलाईन प्लेटफार्म नहीं लिया है तो कोविड-19 में आप अपने छात्रों से नहीं जुड़ पा रहे हैं तथा अब आप खाली बैठे हैं। ऑनलाईन प्लेटफार्म लेने से आपको निम्न लाभ हो सकते हैं:-


· इसके बिना आप उतने ही छात्रों को पढ़ा सकते हैं जितना आपके पास जगह है। ऑनलाईन प्लेटफार्म लेने पर आप अपनी उपलब्ध जगह से कई गुना छात्रों को जोड़ सकते हैं।


· कोचिंग संस्थाएँ अपने छात्रों को लिखित पाठ्य सामग्री वितरित करती हैं जिसको तैयार करने में बहुत खर्च आता है। ऑनलाईन प्लेटफार्म से यह आप द्वारा तेयार की गई पाठ्य सामग्री इसके माध्यम से एक क्लिक छात्रों के पास पहुँच जायेंगे। इसमें आपका खर्चा नहीं होगा। इस प्रकार आप प्रत्येक वर्ष लाखों बचा सकते हैं।


· आप अपने छात्रों के लिए टॉपिक वाईज़ वीडियो बना सकेंगे जिसे छात्र अपनी सुविधानुसार उससे पढ़ाई कर सकते हैं।


· कोचिंग संस्थानों का एक बड़ा आकर्षक उनके मॉक टेस्ट/टेस्ट सीरीज होते हैं। इसे हर सप्ताह बनाना पड़ता है तथा उसे टाईप कराकर छात्रों को देना पड़ता है। ऑनलाईन प्लेटफार्म से यह कार्य चुटकियों में हो जाता है। प्रत्येक सप्ताह आप अपना समय व पैसा दोनों बचा सकते हैं।


· कोचिंग संस्थान/स्कूल के कई प्रबन्धकीय कार्य होते हैं जिसको मैनेज करने के लिए आपको स्टाफ रखना पड़ता है या आपका समय इन्हीं गतिविधियों में लगता है। ऑनलाईन शिक्षण प्लेटफार्म यह काम बहुत कम समय में ऑर्गेनाइज कर देता है।


· ब्रांडिंग:- आप अपने स्कूल/कोचिंग संस्थान ऑनलाईन प्लेटफार्म के माध्यम से आपका ब्रांडिंग कर सकते हैं। आप अपने संस्था के नियमों व सिद्धान्त के अनुसार अपने प्लेटफार्म में फीचर डलवा सकते हैं।


· आप ऑनलाईन प्लेटफार्म के माध्यम से अपने प्रत्येक छात्र के सीखने की प्रक्रिया को समझ सकते हैं। इस प्लेटफार्म का एनेलिटिक्स टूल यह सुविधा देता है।


· मल्टीमीडिया शिक्षण:- छात्र वीडियो, ईमेज, ऑडियो व लिखित सामग्री के समन्वय से अच्छी तरह से सीखते हैं। इनका सबका समन्वय ऑनलाईन शिक्षण प्लेटफार्म से ही सम्भव है।


छात्रों को ऑनलाईन शिक्षण के लाभ:-

स्कूल-कोचिंग संस्थानों की तरह छात्रों को भी ऑनलाईन शिक्षण के कई लाभ हैं:-

· छात्रों को सबसे बड़ी सुविधा है कि किसी भी समय वे पाठ्यक्रम के वीडियो, लिखित सामग्री को देख सकते हैं। यह सुविधा छात्रो को प्रेरित करती है उस कोचिंग मे प्रवेश लेने के लिये जो ऑनलाईन शिक्षण प्लेटफार्म बना रखा है।

· छात्रों को घर बैठे पढ़ने की सुविधा (विशेषकर वे जो प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं) मिल जाती है इससे इनका समय व पैसा दोनों की बहुत बचत होती है।

ऑनलाईन शिक्षण प्लेटफार्म जैसे BodhiAI में वास्तविक परीक्षा के समान टेस्ट पेपर बनाने की सुविधा है। छात्रो को इससे वास्तविक माहौल में अभ्यास की सुविधा मिल जाती है।


88 views

Recent Posts

See All

Bring Your School/Coaching Online Now

bodhi_edited.jpg

Contact Us

Visit Us

  • Facebook
  • Twitter
  • YouTube
  • Instagram
@2020 Bodhisatva Artificial Intelligence Private Limited
                       All Rights Reserved